नित्यानंद ‘तुषार’

नित्यानंद ‘तुषार’ की ग़ज़लें

1

इतना गुस्सा भी मत किया करिए
सारी दुनिया को मत खफा करिए

इससे सेहत भी ठीक रहती है
गुस्सा आए तो फि़र हँसा करिए

जिंदगी में निखार आता है
अच्छे लोगो से भी मिला करिए

मानता हूं जरा-सी जल्दी की
मेरी बातों का मत गिला करिए

अपनी आदत को आप मत छोड़ो
बेकाओं  से भी का करिए

ऐसे घ....

Subscribe Now

पूछताछ करें