शिव कुमार यादव

आलोचना में आत्मावलोकन की खोज

‘आलोचक का आत्मावलोकन’ वरिष्ठ आलोचक गोपेश्वर सिंह की सद्यः प्रकाशित आलोचना पुस्तक है। यह आलोचना पुस्तक एक ऐसे समय में प्रकाशित हुई है जब हर तरफ लेखकों, विचारकों, साहित्यकारों एवं बुद्धिजीवियों की गोलाबंदी, खेमेबंदी बनी हुई है। कहीं विचारधारा के नाम पर तो कहीं राजनीति, जाति और वर्ग के आधार पर। अपने खेमे के रचनाकार को महान लेखक घोषित करना व पुरस्कृत करना और दूसरे खेम....

Subscribe Now

पूछताछ करें