कांति शुक्ला

जीवन जगत का सूक्ष्म पर्यवेक्षण

चर्चित कहानीकार राम नगीना मौर्य जी द्वारा प्रणीत ‘खूबसूरत मोड़’ कृति कहानियों के माध्यम से जीवन के व्यवहार पक्ष की क्रिया विविधता तथा अंतर्पक्ष की वृत्ति विविधता को प्रकृति, परिवेश और जीवन जगत में विद्यमान सूक्ष्म सत्य को उसके मूल चारुत्व में देखने और जो सुंदर और श्रेष्ठ है उसे बचाने का सर्वथा मौलिक बौद्धिक प्रयास है। ‘खूबसूरत मोड़’ में विविधवर्णी कहानियां सं....

Subscribe Now

पूछताछ करें