ममता जयंत

ममता जयंत की पांच कविताएं

वे जो जिम्मेदार हैं

इन दिनों अनुमान लगाना मुश्किल है
कि पानी का स्वाद कड़वा है
या घुल गया है संक्रमण का जहर

ये जिंदा कहानियों के नायकों के
कोप भवन में चले जाने के दिन हैं

विचारों की तानाशाही छूकर गुजर जाती है 
सोच किसी अनचाहे चेहरे के
हावी होने से भयभीत है

हर मुठभेड़ के सामने 
एक ....

Subscribe Now

पूछताछ करें