मुकेश कुमार

करतब पथ पर मुजरा करते जमूरे

सुन बे जमूरे---सुन रहा हूं उस्ताद---क्या सुन रहा है जमूरे---जो तुमने कहा उस्ताद---मैंने क्या कहा जमूरे
---जो मैंने सुना उस्ताद---मैंने तो कुछ कहा नहीं बे---मगर मैंने सब सुन लिया उस्ताद---
अच्छा तो बता तूने क्या सुना---
मैंने सुना कि करतब पथ बन गया है---अच्छा और क्या सुना तूने---यही कि हमको करतब पथ पर चलना चाहिए---तो करतब पथ पर कैसे चलते हैं---वैसे ही जैसे हम चल रहे हैं---हम कै....

Subscribe Now

पूछताछ करें