असग़र वजाहत

(मुज़फ़्फ़र अली से अर्पण कुमार की बातचीत पर आधारित)  

‘पाखी’ के असग़र वज़ाहत पर केंद्रित इस अंक के लिए मशहूर फ़िल्म निर्देशक, चित्रकार और साहित्य-संगीत प्रेमी मुज़फ़्फ़र अली जी से मेरी यह बातचीत हुई। इस बातचीत में इन्हें कुछ और कोणों से जानने-समझने का मौक़ा मिला। पूर्व में, ‘जनसुलभ पुस्तकालय’ के लिए इनपर एकाग्र करते हुए भी इनकी शख़्सियत से दो-चार होने के कई अवसर मिले। विदित है कि उस एकाग्र में असग़र वजाहत जी ने भी मुज़फ़्फ़र अली ज....

Subscribe Now

पूछताछ करें